नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

 

  प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना और कुछ ज़रूरी सुचना जो हमे जनना चाहिए कि उनकी सरकार अब ‘नयी ऊर्जा के साथ, नए भारत के निर्माण के लिए नयी यात्रा’ शुरू करेगी.

एनडीए की बैठक में मोदी जीने कहा

 

नरेंद्र मोदी के अछे विचारो का वीडियो लिंक

कुछ लोग जब तक राष्ट्र के नाम संदेश नहीं दे देते,

उन्हें चैन नहीं पड़ता मिलता

मोदी ने नए सांसदों से कहा देश को

वीआईपी कल्चर से नफरत है,

वीआईपी कल्चर से बचें के रहना चाहिए क्योंकि देश को इससे नफरत है।

भारत का संविधान हमारे लिए सर्वोपरि है।


जनता की सेवा करने से बेहतर अन्य कोई मार्ग नहीं है

संसद के सेंट्रल हॉल में शनिवार को एनडीए की बैठक के दौरान नरेंद्र मोदी ने नवनिर्वाचित सांसदों को नसीहत दी।

 

मोदी ने कहा कि सांसद बड़बोलेपन से बचें,

क्योंकि इससे हमारी परेशानी बढ़ती है।


मोदी की सांसदों को नसीहत दिय


मोदी ने सांसदों से कहा

 

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

भारत का लोकतंत्र और मतदाता लगातार समझदार हो रहे हैं।

सत्ता और सत्ता का रुतबा भारत के मतदाता को कभी प्रभावित नहीं कर पाया। मतदाता को सत्ता भाव को स्वीकार नहीं करता है, कभी नहीं पचा पाता है

जनता ने हमें सेवाभाव के कारण ही स्वीकार किया है।

सत्ताभाव से अलिप्त रहने के लिए हमें प्रयास करना होगा। जितना प्रबल सेवाभाव होगा, सत्ताभाव सिमटता जाएगा

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

जनता की आशा ओं के अनुसार खुद को ढालें


उन्होंने कहा 2019 के चुनाव ने दिलों को जोड़ने का काम किया है।

ये चुनाव सामाजिक एकता का आंदोलन बन गया। समानता भी है समानता से चुनाव को नई ऊंचाई मिलीं। हम इसके साक्षी हैं। रचयिता हैं

इसका दावा नहीं करते। साक्षी भाव से इन चीजों को देखेंगे और समझेंगे तो जन सामान्य की आशा-अपेक्षाओं के अनुसार हम अपने जीवन को ढाल पाएंगे।


छपास और दिखास से बचें और दूसरों को भी बचाएं

बड़बोलापन होता है। टीवी के सामने कुछ भी बोल देते हैं

कुछ लोग सुबह उठकर जब तक राष्ट्र के नाम संदेश नहीं देते हैं, उन्हें चैन नहीं पड़ता। मीडिया को भी पता होता है

नरेंद्र मोदी: प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे

कि 6 नमूने हैं इनके गेट के सामने पहुंच जाओ कुछ ना कुछ बोलेंगे ही। आपको इससे बचना चाहिए।

अटल-आडवाणी कहते थे कि छपास और दिखास से बचना चाहिए। खुद को भी बचा सकते हैं

 

और दूसरों को भी बचा सकते हैं। आप सोचेंगे कि देश देखेगा। भ्रम में ना रहें,

शुरू में ये खींचता है और बाद में हम इसके शिकार हो जाते हैं। हम जितना इन चीजों से बच सकते हैं, बचें

अपनी वाणी, व्यवहार और वर्तनी को संभालें
मोदी ने कहा- कभी-कभी लोग ऑफ द रिकॉर्ड बात करने आते हैं

ऐसा कुछ नहीं होता है। पता नहीं किसके पास कौन सा इंस्ट्रूमेंट हो। आप इन सब चीजों से बचें

एक बहुत बड़ा वर्ग है, जिसे 70 साल किसी और ने पाला है। ये हमें क्यों स्वीकार करेंगे?

उनका तो कारोबार है। हमें संभलना होगा। वाणी, व्यवहार, वर्तनी से हमें संमभलना होगा

अहंकार से जितना दूर रह सकते हैं रहें

हमारे भीतर का कार्यकर्ता जिंदा रहना चाहिए।

थोड़ा सा भी अहंकार अपने आसपास से सबको दूर कर देता है

अहंकार को जितना दूर रख सकते हैं, रखना चाहिए। अभी तो हमें लगता है कि पार्टी ने जिताना दिया, लोगों ने मेहनत की। कुछ समय बाद ये अहसास आ जात है कि ये तो मेरी ताकत थी, लोकप्रियता थी, मुझे तो जीतना ही था। ऐसा दिन भी आ जाएगा, इसमें देर नहीं लगती

हम जो हैं, वो मोदी के कारण नहीं जनता के कारण हैं
उन्होंने कहा-

हम अपनी हैसियत से जीतकर नहीं आते हमें कोई वर्ग, जाति या समुदाय नहीं जिताता है

हमें सिर्फ और सिर्फ देश की जनता जिता ती है हम जो कुछ भी हैं, मोदी के कारण नहीं है जनता-जनार्दन के कारण हैं

हमें जन आदेश मिला है हमें उस जन का सम्मान और उसके आदर्श का पालन करना है

कोई कहे कि आपका नाम मंत्रियों की लिस्ट में है तो जांच करें

देश में बहुत ऐसे नरेंद्र मोदी पैदा हो गए हैं।

जिन्होंने मंत्रिमंडल बना दिया है अगर सबका टोटल करेंगे तो 40-50 ऐसे रह जाएंगे जो मंत्रियों की लिस्ट में नहीं आएंगे

मैं कहना चाहता हूं कि अखबार के पन्नों से ना मंत्री बनते हैं और ना जाते हैं। कृपा करके शपथ ग्रहण तक ऐसी बातों पर ना जाएं

फोन आ भी जाए तो जांच करें। बहुत सारे साथी जीते हैं, जिम्मेदारियां सभी को नहीं दी जा सकती हैं मैं भी आपमें से एक हूं नरेंद्र मोदी जी ने कहा

दिल्ली के सेवाभावी लोगों की सेवा से मुक्त रहिए
मोदी जी ने कहा

जो नए चुनकर आए हैं, उन्हें तुरंत इस बात का अहसास होगा कि अचानक लोग देखने लगे हैं

आप ने दिल्ली में देखा होगा अचानक ही स्टेशन पर गैंग आपको लेने आ जाता है

ये दिल्ली की एक दुनिया है वह आते ही आपको इतना प्यार देंगे, सेवा करेंगे कि आप पंगु बन जाएंगे 3-4 दिन में आपकी दोस्ती हो जाती है

एक दो साल बाद आपको पता चलेगा कि ये खिलाड़ी है ये जो सेवाभावी लोग आते हैं ना उनकी सेवा से मुक्त रहिए

अपने क्षेत्र के लिए योग्यता लोगों का चुनाव खुद करें किसी के  सलाह पर नहीं जाना चाहिए हमे खुद चुनाव करना चाहिए

उन्होंने कहा- कोई आपको सलाह दे, या फिर पुराने सांसद ही कहें कि ये अच्छा आदमी है तो मत सुनना। कोई कहे कि ये अच्छा है, ये अच्छा काम भी करेगा तो उसे भी मत सुनना। अपने अपने क्षेत्रों के लिए योग्यता लोगों का चुनाव खुद करिए

दिल्ली में ऐसी व्यवस्था है,जो अच्छे-अच्छे लोगों को बर्बाद कर सकती है

देश सुन रहा होगा, लेकिन मैं आपको बताना चाहता हूं। यह मेरी ज़िम्मेदारी है

वीआईपी कल्चर से जितना बच सकते हैं, बच के रहे
वीआईपी कल्चर, देश को इससे नफरत है

ये चीजें कह रहा हूं। आपको अच्छा-बुरा लगेगा, मैं नहीं जानता। नियम से चलने में क्या परेशानी है?

लाल बत्ती हटाना कोई बड़ी चीज नहीं थी, लेकिन लोगों ने कहा कि मोदी ने इसे उतार दिया। मनो हर पर्रिकरजी की पहचान ही यही थी, यह बहुत बड़ी ताकत थी। वीआईपी कल्चर से जितना बच सकते हैं बचे

आकार अपनों से दूर कर देता है आपको सचेत करना मेरी जिम्मेदारी है किसी को भी मोदी नहीं जीता था हमें सिर्फ देश की जनता जािता  ती है हम जो भी हैं जनता की वजह से हैं हमें जनता का आदेश मिला है लुटीयान मीडिया से दुर रहे ईन

नरेंद्र मोदी: प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे

 मोदी का निशाना  मोदी ने कहा हम गरीबों के पास पहुंचे हैं हम गरीबों से छल नहीं करेंगे

हम ने गरीबों के लिए काम किया और काम करेंगे हम ने गरीबों के लिए सरकार चलाई और सरकार चलाएंगे इस बार गरीबों ने सरकार बनाई

इसीलिए हम गरीबों के लिए काम करेंगे गरीबी एक घर गजल बन गया था मोदी ने कहा  हम ने गरीबों से छल तोड़ा है हम गरीबों के पास पहुंचे हैं

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

हम गरीबी मुक्ति की ओर बढ़ रहे हैं मोदी ने कहा हम ने गरीबों के लिए काम किया मोदी ने कहा  ऑलफ संख्याओं के साथ छल किया अल्प संख्याओं का इस्तेमाल हुआ देश की एकता और संविधान के लिए हमें इस क्षण को भी खत्म करना है

 

मोदी ने कहा गरीबी से मुक्ति के लिए लड़ना है मोदी ने कहा और सब के विकास के लिए लड़ना है

 

 एक बहुत बड़ी दायित्व है मोदी ने कहा हमें अल्प संख्याओं का विश्वास जीतना है मोदी ने कहा आज हमें गरीबों के  लिये लड़ना है

 

मोदी ने कहा कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए वीआईपी लोगों से दूर रहना चाहिए दिया कि लोग पसंद नहीं है जनता को मोदी ने कहा घोर विरोध करने वाले भी हमारे है मोदी ने कहा हमारे लिए कोई भेद नहीं हो सकता

 

मोदी ने कहा सबका साथ सबका विकास और सब का विश्वास मोदी ने कहा घोर विरोध करने वाले भी हमारे है मोदी ने कहा कोई पीछे नहीं रहना चाहिए मोदी ने कहा सबका साथ सबका विकास सबका विसवास और कुछ चाहिए

 

मोदी ने कहा हमें छल खत्म करना होगा मोदी ने कहा देश को नई ऊंचाई पर ले जाना है कोई पीछे नहीं छुटना चाहिए मोदी ने कहा सबका साथ विकास विश्वास मंत्र

 

प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे नरेंद्र मोदी ने शनिवार को कहा कि उनकी सरकार अब ‘नयी ऊर्जा के साथ, नए भारत के निर्माण के लिए नयी यात्रा’ शुरू करेगी.

 

मोदी ने एनडीए के नवनिर्वाचित सांसदों से बिना भेदभाव के काम करने को भी कहा.

 

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) का नेता चुने जाने के बाद अपने करीब 75 मिनट के भाषण में मोदी ने अल्पसंख्यकों का भी विश्वास जीतने की जरूरत बताते हुए कहा कि वोट-बैंक की राजनीति में भरोसा रखने वालों ने अल्पसंख्यकों को डर में जीने पर मजबूर किया, हमें इस छल को समाप्त कर सबको साथ लेकर चलना होगा

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना


पीएम मोदी ने कहा, ‘2014 में मैंने कहा था, मेरी सरकार इस देश के दलित, पीड़ित, शोषित, आदिवासी को समर्पित है. मैं आज फिर से कहना चाहता हूं कि पांच साल उस मूलभूत बात से अपने आपको ओझल नहीं होने दिया. 2014 से 2019 हमने प्रमुख रूप से गरीबों के लिए चलाई है

 और आज मैं ये गर्व से कह सकता हूं कि ये सरकार गरीबों ने बनाई. गरीबों के साथ जो छल चल रहा था, उस छल में हमने छेद किया है

और सीधे गरीब के पास पहुंचे हैं. देश पर इस गरीबी का जो टैग लगा है, उससे देश को मुक्त करना है.

 

गरीबों के हक के लिए हमें जीना-जूझना है, अपना जीवन खपाना है. गरीबों के साथ जैसा छल हुआ, वैसा ही छल देश की माइनॉरिटी के साथ हुआ है.

अच्छा होता कि माइनॉरिटी की शिक्षा, स्वास्थ्य की चिंता की जाती. 2019 में आपसे अपेक्षा करने आया हूं कि हमें इस छल को भी छेद करना है.

हमें विश्वास जीतना है. संविधान को साक्षी मानकर हम संकल्प लें कि देश के सभी वर्गों को नई ऊंचाइयों पर ले जाना है. पंथ-जाति के आधार पर कोई भेदभाव नहीं होना चाहिए.’

उन्‍होंने कहा, ‘हम सबको मिलकर के 21वीं सदी में हिंदुस्तान को ऊंचाइयों पर ले जाना है. सबका साथ, सबका विकास सबका विसवास  ये हमारा मंत्र है.

नरेंद्र मोदी: प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे

स्वच्छता अगर जन आंदोलन बन सकता है तो समृद्ध भारत भी जन आंदोलन बन सकता है. हम कुछ करने के लिए नहीं, बहुत कुछ करने के लिए आए हैं

 

 21वीं सदी भारत की सदी बने, ये हम लोगों का दायित्व है. आप सबने मुझे दायित्व दिया है, लेकिन ये कोई कॉन्ट्रैक्ट नहीं है, ये हमारी संयुक्त  ज़िम्मेदारी है चोट झेलने की ज़िम्मेदारी मेरी है

सफलता का हक आपका है. भारत का संविधान हमारे लिए सर्वोपरि है

 

उन्होंने कहा कि सत्ता में रहते हुए लोगों की सेवा करने से बेहतर अन्य कोई मार्ग नहीं है. मोदी ने संसद के सेंट्रल हॉल में एनडीए के सांसदों से कहा कि हम उनके लिए हैं जिन्होंने हम पर भरोसा किया तथा उनके लिए भी हैं

जिनका हमें विश्वास जीतना है. उन्होंने सांसदों से वीआईपी संस्कृति से बचने को कहा. उन्होंने कहा कि सांसदों को जरूरत पड़ने पर अन्य नागरिकों की तरह कतारों में भी खड़ा होना चाहिए. मंत्रिपरिषद के नामों को लेकर चल रही अटकलों पर  बत की

मोदी ने सांसदों से कहा कि इन पर भरोसा नहीं करें, नियमों के अनुसार जिम्मेदारी दी जाएगी

उन्होंने कहा कि चुनाव बांटते हैं और दूरियां पैदा करते हैं लेकिन 2019 चुनाव ने लोगों और समाज को जोड़ने का काम किया. उन्होंने कहा कि इस चुनाव में सत्ता समर्थक लहर थी

इसके परिणामस्वरूप सकारात्मक जनादेश आया. मोदी ने एनडीए नेताओं को मीडिया से बातचीत करने में संयम बरतने की भी सलाह दी

और कहा कि सार्वजनिक रूप से दिये गये कुछ बयान अकसर हमें परेशान करते हैं. उन्होंने कहा कि हमने 2014 से 2019 तक गरीबों के लिए सरकार चलाई, मैं कह सकता हूं कि इस बार गरीबों ने सरकार चुनी

नरेंद्र मोदी: सराकार कि नई योजना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमारी योजना भारत को सबसे शक्तिशाली देश बनाने की है।

हम इस पर काफी हद तक सफल भी रहे हैं। हमको अब तो रोकने का काम तेज हो गया है। अवसरवादी तथा महामिलावटी एक होकर विरोध में लगे हैं,

 

लेकिन मुझे तो जनता का सहयोग है। मैं इनके प्रयास को बेकार कर दूंगा। उन्होंने कहा कि मैं तो मां, बहनों और बेटियों के सम्मान में खड़ा हूं

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा मैं गरीब के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए खड़ा हूं। मैं समाज की आखिरी पंक्ति में खड़े व्यक्ति को सशक्त करने के लिए जुटा हूं

अब देखना है कि यह सब महामिलावटी लोग जनता के फैसले का कैसे जवाब देंगे।

पीएम मोदी ने कहा कि महामिलावट वाले सपा हो, बसपा हो, कांग्रेस हो, यह सब मोदी को गाली देने में जुटे हैं। ऐसा कोई दिन नहीं है, जब मोदी के लिए इनके मुंह से गाली नहीं निकलती है

हम भी इनकी गाली सुनकर काफी मन से तेजी से काम करने लगते हैं। हमको किसी की बुराई नहीं करनी है, हमको तो देश का विकास करना है

पीएम ने कहा  उज्ज्वला योजना आने से धुएं से मुक्त हुआ है। उसके इसी समर्थन का परिणाम है महामिलावट वाले यह सारे मोदी को गाली देने में जुट गए हैं।

ऐसा कोई दिन नहीं जब मोदी के लिए उनके मुंह से गाली न निकले। छह चरणों की बौखलाहट है, हार की हताशा साफ दिख रही है।

मैं इनकी गालियों को उपहार मानता हूं। इनकी गालियों का जवाब मोदी नहीं यह जनता जनार्दन देगी। मैं तो मां, बहन-बेटियों के सम्मान में खड़ा हूं।

समाज के आखिरी पंक्ति में जो खड़ा है उसके लिए हूं। महामिलावटी पूछ रहे हैं कि मोदी की जाति क्या है। साथियों बुआ-बबुआ दोनों मिलकर जितने साल मुख्यमंत्री नहीं रहे उससे ज्यादा समय मैं गुजरात का सीएम रहा हूं। अनेक चुनाव लड़े- लडाए हैं, लेकिन कभी अपनी जाति का सहारा नहीं लिया

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि मैं पैदा भले अति पिछड़ी जाति में हुआ, लेकिन दुनिया में देश को अगड़ा बनाने का लक्ष्य है।

 

मेरे दिमाग में जाति का भेदभाव नहीं है जनता को लाभ जाति पूछकर नहीं दिया। इसलिए वोट भी जाति के नाम पर नहीं मांग रहा हूं।

 

मुझे देश के लिए जीना है वोट भी देश के लिए मांगता हूं। मेरे दिल की आवाज है आपसे कहना चाहता हूं

 

नरेंद्र मोदी जी ने  कहा कि जय प्रकाश नारायण की धरती से कहना चाहता हूं कि आपकी संतान आपकी तरह पिछड़ी जिंदगी न जिए। आपकी संतानों को विरासत में पिछड़ापन न मिले। आपके बच्चों को विरासत में गरीबी न मिले। आपका आशीर्वाद चाहिए। आप सोच रहे होंगे

 

मोदी यह काम कैसे कर पाएगा। इतने प्रधानमंत्री आए नहीं कर पाए, मोदी कैसे करेगा। मैं इसलिए कर पाऊंगा, क्योंकि आपके बीच से निकल कार आया हूं। जो दर्द आज आप सह रहे हैं, वह मैने सहा है।

 

मैं अपना पिछड़ापन अपनी गरीबी नहीं, आपके लिए जीता हूं आपके लिए जूझता हूं इसलिए विश्वास है परिस्थिति बदल दूँगा।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विरोधियों ने सत्ता के नाम पर धोखा दिया है, लूटा है, आप जानते हैं। जाति के नाम पर अपने और रिश्तेदारों के लिए बंगले, महल बनाए

 

और बे-नामी संपत्ति का अंबार लगाया है। एजेंसियाँ जांच कर रही हैं। पानी पीकर गालि यां देने वाले आज महामिलावट करने पर मजबूर हैं। रात को देखा कि सपा-बसपा के कार्यकर्ता एक-दूसरे का सिर फोड़ रहे थे।

 

अभी तो चुनाव बाकी है हिसाब चुकता करना शुरू कर दिया है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विरोधियों ने सत्ता के नाम पर धोखा दिया है, लूटा है,

 

आप जानते हैं। जाति के नाम पर अपने और रिश्तेदारों के लिए बंगले, महल बनाए और बे नामी संपत्ति का अंबार लगाया है। एजेंसियाँ जांच कर रही हैं।

 

पीएम मोदी ने कहा  जिस प्रकार गुलामी के खिलाफ बागी हुआ यह मोदी भी गरीबी से लड़ते-लड़ते बागी हो गया। मेरी भी जाति बागी है और गरीबी के खिलाफ बगावत की है।

 

पीएम मोदी ने कहा कि बचपन में मैंने मां को धुएं से जूझते देखा है। टपकती छत के कारण लोगों को रात में जागते देखा है, गरीबी के कारण खेत बिकते देखा है, ढिबरी में पढ़ाई कितनी मुश्किल होती है देखा है

 

इन्हीं वजहों ने मुझे गरीबी के खिलाफ बगावत करना सिखाया है। इसी गरीबी को दूर करना है। प्रेरणा से गैस, बिजली, शौचालय जैसी योजना मिल रही है। 2022 तक हर गरीब के पास अपना पक्का घर होगा।

नरेंद्र मोदी: प्रधानमंत्री के रूप में दूसरे कार्यकाल की शुरूआत करने जा रहे

चौकीदार है तो हर किसी को पक्का घर देकर ही सांस लेने वाला है। इसी प्रेरणा से गरीब से गरीब को पांच लाख तक मुफ्त इलाज मिल रहा है।

 

यही प्रेरणा है कि छोटे किसानों के खाते में सीधे पैसे जमा किए जा रहे हैं। 23 मई के बाद हर किसी को यह लाभ मिलेगा। गरीबों को पेंशन मिले यह योजना चौकीदार बनाएगा। सामान्य वर्ग के गरीबों को दस फ़ीसदी का आरक्षण दिया गया। ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा दिया गया।

मैं मेरा पिछड़ापन, मेरी गरीबी दूर करने नहीं, आपके लिए जीता हूं, आपके लिए जूझता हूं। इसी कारण मुझे विश्वास है कि इस परिस्थिति को बदलने में हम सफल होंगे।

 

पीढ़ी दर पीढ़ी चली आ रही इस दयनीय स्थिति को मुझे बदलना है। मैं नहीं चाहता कि आपकी संतान भी, आपकी तरह पिछड़ी हुई जिंदगी जीने के लिए मजबूर हो। मैं नहीं चाहता कि आपकी संतानों को विरासत में पिछड़ापन मिले। मैं नहीं चाहता कि आपके बच्चों को विरासत में गरीबी मिले।

 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- मैं महामिलावट वालों को खुली चुनौती देता हूं कि गाली-गलौच करने के बजाय मैदान में आओ। मैं खुली चुनौती देता हूं –

 

मैंने कोई बेनामी संपत्ति या फार्म हाउस या शापिंग मॉल न बनवाया, न विदेश में संपत्ति जमा की। मेरे पास गाड़ी भी नहीं है। मैंने बंगले नहीं बनवाए। मैंने न अमीरी के सपने देखे

 

और न ही गरीब के पैसे लूटने का पाप किया। हमारे लिए गरीब का कल्याण और मातृभूमि की रक्षा जिंदगी में सर्वोपरि है।

 

आज तो पाकिस्तान और आतंकियों की सारी हेकड़ी हवा हो गई है। आतंकी पाकिस्तान में घुसकर हथियारों की नुमाइश करते थे वो आज जमीन में घुसकर मोदी को हटाने की दुआ करते हैं। नींद हराम हो गई है,

 

उनको लगता है भारत के सपूत आ धमकेंगे। आपके आशीर्वाद से देश के सपूतों को खुली छूट है। पहले सर्जिकल स्ट्राइक फिर एयर स्ट्राइक की। आज आतंक की लड़ाई सीमा पार लेकर गए हैं। सपा-बसपा और कांग्रेस को आपने आतंक या राष्ट्र रक्षा पर बोलते सुना है क्या। वो सपूतों के शौर्य पर सवाल उठाते हैं।

 

प्रधानमंत्री मोदी कहा जो लोग गली के गुंडों पर लगाम नहीं लगा पाए वो आतंकवाद पर क्या लगाम लगाएंगे। पूरी दुनिया जिससे परेशान है उससे निपटने के लिए दिल्ली में हिम्मत के साथ देश के लिए फैसले लेने वाली सरकार चाहिए।

 

सबका साथ सबका विकास हमारा मंत्र है सबको सुरक्षा और सम्मान हमारा प्रण है। इसी पर चलते हुए पूर्वांचल और पूर्वी भारत के विकास पर जोर दिया है।

 

आज यहां ट्रेनों की आवाजाही बढी है, सडक बनी है। कनेक्टिविटी बढी है। हमारी सरकार ने मोबाइल कनेक्टिविटी पर जोर दिया है। फोन आज घर-घर पहुंचा है। भोजपुरी सिनेमा को लाभ मिला है। हमने 4 जी गरीब तक पहुंचाया है। मेक इन इंडिया होने से फोन सस्ता हुआ है। सरकार की नीति से दुनिया में इंटरनेट सबसे सस्ता है

सी एम यो गी आदित्य नाथ ने  पीएम मोदी का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि मोदी जी ने जाति देख कर विकास नहीं किया सभी गरीब पिछड़ों को बिना भेदभाव किए विकास की योजनाओं से जोड़ा लेकिन फिर आज मोदी जी की जाति की बात हो रही है

 

भाजपा ने यहां से भाजपा किसान मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भदोही से सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त को अपना प्रत्याशी घोषित किया है, जबकि गठबंधन से समाजवादी पार्टी के सनातन पाण्डेय

उम्मीदवार हैं। एसपी-बी एसपी गठबंधन ने समाजवादी की जड़ें मजबूत करने वाले पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर के कुनबे से अलग पूर्व विधायक सनातन पांडे पर दांव चलकर लोगों को चौंकाया है।

कांग्रेस ने यह सीट अपने सहयोगी दल जन अधिकार पार्टी को दी थी, लेकिन उसके प्रत्याशी अमरजीत यादव का पर्चा खारिज हो गया। अब यहां महागठबंधन और बीजेपी में सीधा मुकाबला है।

मोदी की जनसभा में उमड़ा जनसैलाब

माल्देपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली में लोगों का हुजूम आने का सिलसिला शुरू हो गया है। नारेबाजी करते हुए समर्थक हाथों में झंडा व कंधे पर भगवा गमछा सर पर ‘मैं भी हूं चौकीदार’ की टोपी पहने  सभास्थल की तरफ जा रहे हैं। सुरक्षा-व्यवस्था में भारी मात्रा में फोर्स तैनात किए गए हैं। 15 मेटल स्कैनर द्वार से चेकिंग के बाद सभास्थल पर लोग पहुंच रहे हैं। कार्यकर्ता मैं भी चौकीदार हूं कि टोपी व मोदी का मुखौटा का वितरण कर रहे हैं।मोदी समर्थक देश के कोने-कोने से पहुंच रहे हैं।

Read more  related to link  नरेंद्र मोदी का 2019 का नई योजना