The Wing Commander Abhinandanan Full Story welcome IN

The Wing Commander Abhinandanan Full Story

The Wing Commander Abhinandanan Full Story

The Wing Commander Abhinandanan Full Story

The Wing Commander Abhinandanan Full Story भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तान से लौटने के बाद अपना दर्द बयां किया

 

समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के मुताबिक खबर दी है कि अभिनंदन ने भारतीय वायुसेना (आईएएफ) के अधिकारियों को बताया कि उन्हें पाकिस्तान में शारीरिक पीड़ा तो नहीं दी गई, लेकन उन्हें काफी मानसिक यातनाएं दी गई।

 

बुधवार को एफ-16 लड़ाकू विमान को मार गिराते वक्त मिग-21 बिसन में सवार अभिनंदन का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। अभिनंदन करीब 50 से ज्यादा घंटे तक पाकिस्तान की हिरासत में रहे। भारतीय रक्षा प्रतिष्ठानों पर हमले के उद्देश्य से जब पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों ने भारतीय वायुसीमा का उल्लंघन कर फायरिंग की। जिसका जवाब देने के लिए भारतीय लड़ाकू विमानों ने आसमान में उन्हें सीधी चुनौती दी। जिसके बाद पाकिस्तानी विमानों को भाग खड़ा होना पड़ा।

 

इससे पहले रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने विंग कमांडर अभिनंदन से अस्पताल जाकर मुलाकात की। अभिनंदन शुक्रवार रात लगभग सवा नौ बजे अटारी-वाघा बॉर्डर के रास्ते दिल्ली लौटे हैं।

The Wing Commander Abhinandanan Full Story ऐसे पाकिस्तान की सेना के हिरासत में आए अभिनंदन



विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तान के अधिकारियों की तरफ से उस वक्त पकड़ लिया गया था जब नियंत्रण रेखा के उस पार उनका मिग-21 बिसन विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया। इस दौरान उन्होंने एक पाकिस्तान के अत्याधुनिक एफ-16 लड़ाकू विमान को भी मार गिराया। लेकिन, जब वे पैराशूट का इस्तेमाल कर नीचे उतरे तो उन्हें पता चला कि वह पाकिस्तान के नियंत्रण वाले जम्मू कश्मीर में है और उन्हें पाकिस्तान सेना के हवाले कर दिया गया।

भारत वापस आने के बाद अब वायु सेना के पायलट अभिनंदन को ‘कूलिंग डाउन’ की प्रक्रिया के तहत गुजरना होगा और ये चीजें अभी कुछ दिनों तक लगातार जारी रह सकती है। इस अभ्यास के तहत उन्हें मेडिकल पर्यवेक्षण में रखा जाएगा और एयर फोर्स की तरफ से काउंसलिंग कराई जाएगी।

भारत पहुंचने के बाद अभिनंदन को शुरुआती जांच से गुजरना पड़ा। उनका शनिवार को कुछ और मेडिकल टेस्ट कराया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, अब वायुसेना की पहली प्राथमिकता अभिनंदन के स्वास्थ्य को सामान्य हालत में लाने की है।

 

The Wing Commander Abhinandanan Full Story अभिनंदन लड़ाकू विमान उड़ाएंगे या नहीं, फैसला तीन जांच के बाद

 

पाकिस्तान के कब्जे से सकुशल स्वदेश लौटने वाले विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान अब कभी लड़ाकू विमान उड़ा पाएंगे या नहीं, इसका फैसला तीन जांच के बाद किया जाएगा।

विंग कमांडर अभिनंदन की सेना के आरआर अस्पताल में स्वास्थ्य जांच हो रही है। फिर मनोरोग विशेषज्ञों की टीम भी उनकी गहन जांच करेगी। इसके बाद उन्हें रॉ समेत अन्य खुफिया एजेंसियों के सवालों का सामना भी करना होगा। इसके बाद ही वायुसेना यह तय करेगी कि वह आगे लड़ाकू विमान उड़ाएंगे या परिवहन विमान या फिर उन्हें कोई और पद दिया जाएगा।

 

पूर्व एयर चीफ मार्शल पीके बरबोरा के मुताबिक ये तीनों जांच ऐसे मामलों में निर्धारित मानक प्रक्रिया का हिस्सा हैं। प्रक्रिया के तीसरे चरण में अभिनंदन से पूछताछ में खुफिया एजेंसियां यह सुनिश्चित करेंगी कि उनसे पाक ने किस तरह के सवाल पूछे और  जानकारी लेने में वे सफल हुए या नहीं। सूत्रों के अनुसार प्रक्रिया में कितना समय लगेगा, यह कहना मुश्किल है। यह अलग बात है कि बहादुर अभिनंदन ने जल्दी ड्यूटी पर वापस लौटने की इच्छा जाहिर की है। कारगिल युद्ध के दौरान आठ दिन बाद पाक की हिरासत से लौटे फ्लाइट लेफ्टिनेंट के. नचिकेता को बाद में परिवहन विमान उड़ाने का जिम्मा सौंपा गया था।

पाक ने शारीरिक नहीं, मानसिक उत्पीड़न किया
सूत्रों के अनुसार विंग कमांडर अभिनंदन ने वायुसेना को सूचित किया है कि पाक सेना व आईएसआई ने उन्हें शारीरिक रूप से तो नहीं, लेकिन मानसिक रूप से प्रताड़ित किया है। दुश्मन की कैद में रहने के बाद मानसिक प्रताड़ना आम बात है। इसलिए चिकित्सीय जांच के बाद उनकी मानसिक स्थिति का भी गहन परीक्षण किया जाएगा। इसके बाद ही फैसला लिया जाएगा।

 

 

अभिनंदन ने कहा- पाक में शारीरिक नहीं, मानसिक तौर पर प्रताड़ित किया गया

The Wing Commander Abhinandanan Full Story

 

हॉस्पिटल में अभिनंदन से रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मुलाकात की
विंग कमांडर ने शनिवार सुबह वायुसेना के अधिकारियों और करीबी रिश्तेदारों से मुलाकात की

विंग कमांडर अभिनंदन वर्तमान को हॉस्पिटल में सामान्य करने की प्रक्रिया से गुजारा जा रहा है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, उन्होंने बताया कि पाकिस्तान में उन्हें शारीरिक तौर पर तो प्रताड़ित नहीं किया गया, लेकिन वहां उन्हें मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ी। अभिनंदन को शुक्रवार रात पाकिस्तान ने वाघा बॉर्डर पर भारत को सौंपा था। जहां से उन्हें स्वास्थ्य जांच के लिए दिल्ली लाया गया। यहां उनसे शनिवार को रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने मुलाकात की।

रविवार तक स्वास्थ्य जांच से गुजरेंगे अभिनंदन

शनिवार को रक्षा मंत्री के अलावा अभिनंदन से उनके करीबी रिश्तेदारों ने मुलकात की। इसके अलावा वायुसेना के उच्चाधिकारियों ने भी उनसे बातचीत की। शनिवार रात करीब 11.45 बजे विंग कमांडर दिल्ली पहुंचे थे। यहां उन्हें एयर फोर्स सेंट्रल मेडिकल स्टैब्लिशमेंट में लाया गया। यहां वह सामान्य होने की कई प्रक्रियाओं से गुजरेंगे, जिसके रविवार तक जारी रहने की संभावना है।

 

रक्षा मंत्री को बताया पाकिस्तान में बिताए 60 घंटों का हाल

The Wing Commander Abhinandanan Full Story


रक्षा मंत्री सीतारमण ने मुलाकात के दौरान अभिनंदन से कहा कि देश उनके साहस और दृढ़ता पर गर्व कर रहा है। अधिकारियों के मुताबिक, मुलाकात के दौरान अभिनंदन ने रक्षा मंत्री को बताया कि पाकिस्तान में बिताए 60 घंटों के दौरान उनके साथ कैसा व्यवहार किया गया। इससे पहले शनिवार सुबह अभिनंदन ने अपने परिजनों से भी मुलाकात की।

 

एफ-16 मार गिराया था, दुश्मन के सामने निडर खड़े रहे
बुधवार को पाकिस्तान के तीन विमानों ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की थी। उनके निशाने पर हमारे सैन्य ठिकाने थे। वेस्टर्न कमांड की ओर से दो मिग-21 और तीन सुखोई-30 विमानों को इसे रोकने के निर्देश दिए गए। जवाबी कार्रवाई के दौरान अभिनंदन ने पाकिस्तानी एफ-16 विमान को मार गिराया, लेकिन इस कोशिश में उनका विमान भी पाकिस्तानी सीमा में क्रैश हो गया। उन्हें बंदी बना लिया गया था। पाक सेना ने एक वीडियो जारी किया था, जिसमें अभिनंदन से पूछताछ की जा रही थी। लेकिन, अभिनंदन ने बड़ी ही निडरता से जानकारी देने से इनकार कर दिया था।

 

कमांडर अभिनंदन की खास बातें बातें

The Wing Commander Abhinandanan Full Story

 

The Wing Commander Abhinandanan Full Story अपने साथ व्यवहार को लेकर बताई यह बात
शुक्रवार को भारत लौटे थे विंग कमांडर
अटारी बॉर्डर पर पाक ने सौंपा था

 

विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने पाकिस्तान में अपने साथ हुए बर्ताव को लेकर बड़ा खुलासा किया है. सूत्रों के अनुसार विंग कमांडर अभिनंदन ने बताया है कि उन्हें पाकिस्तान में मानसिक प्रताड़ना झेलनी पड़ी थी. अभिनंदन वर्धमान ने यह खुलासा भारत आने के बाद ही किया. भारत सरकार इस मामले को बड़े स्तर पर उठाने की तैयारी में है ताकि पाकिस्तान के को विश्व पटल पर बेनकाब किया जा सके. बता दें कि अभिनंदन को शुक्रवार रात करीब सवा नौ बजे भारत के हवाले किया गया था. विंग कमांडर के इस खुलासे के बाद पाकिस्तान पर इस मामले में जेनेवा कन्वेंशन के नियमों की अनदेखी करने का आरोप लग रहा है. कन्वेंशन के नियमों के दौरान ऐसे किसी भी कैदी को शारीरिक या मानसिक रूप से प्रताड़ित नहीं किया जा सकता है. ध्यान हो कि विंग कमांडर अभिनंदन को पाकिस्तानी अधिकारियों ने 27 फरवरी को पकड़ लिया था. दरअसल, पाकिस्तानी लड़ाकू विमानों के साथ हुई एक झड़प के दौरान उनका मिग 21 गिर गया था. लेकिन उन्होंने अपने विमान के गिरने से पहले पाकिस्तानी वायुसेना के एफ – 16 को मार गिराया था. वतन वापसी के बाद अभिनंदन की मेडिकल जांच के बाद उन्हें अब वायु सेना के हॉस्टल में शिफ्ट करा दिया गया है. हालांकि अभी तक यह साफ नहीं पाया है कि अभिनंदन की मेडिकल रिपोर्ट में क्या निकल कर आया है.
विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की मेडिकल जांच हुई पूरी, वायु सेना के हॉस्टल में किया गया शिफ्ट

दरअसल, शुक्रवार को पाकिस्तान विंग कमांडर अभिनंदन को भारत को सौंपने वाला था. इसके लिए भारत की ओर से पूरी तैयारियां की जा चुकी थीं. वायुसेना के अधिकारी, भारतीय दूतावास के अधिकारी और सरकार के प्रतिनिधि सभी समय पर तैयार थे, मगर पाकिस्तान की चालबाजियों ने दोपहर से रात कर दिया. पहले पाकिस्तान की ओर से ही बताया गया था कि अभिनंदन को वह करीब दोपहर में 3 से चार बजे के बीच में रिहा कर देगा, मगर उसने बार-बार देरी की. इसके पीछे कई वजहें बताईं जा रही हैं. मसलन, वह इस घटना को लाइम लाइट में लाना चाहता था. वह चाहता था कि पूरी दुनिया की नजर इस खबर पर हो.

 

शुक्रवार शाम के तीन बजे के आस-पास अभिनंदन को पाकिस्तान ने रावलपिंडी से लाहौर पहुंचा दिया गया था. मगर लाहौर से वाघा बॉर्डर लाने में उसने इतनी देर लगा दी, जिससे उसके नापाक इरादे भी सबसे सामने जाहिर हो गए. सूत्रों की मानें तो अभिनंदन को लाहौर में स्थित किसी सेना के छावनी में रोक कर रखा गया था और पाकिस्तान ने अभिनंदन का जबरन एक वीडियो बनवाया.
 विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान की वतन वापसी भारत-पाकिस्तान के बीच कम कर सकती है तनाव


यह बात भी सही है कि पाकिस्तान और भारत के बीच दस्तावेज की प्रक्रिया में भी कुछ समय की देरी हुई थी, मगर यह देरी इतनी भी नहीं थी कि अभिनंदन की वापसी में दोपहर से रात हो जाए. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भारतीय पायलट अभिनंदन को भारत को सौंपे जाने में देरी इसलिए हुई क्योंकि, उनसे पाकिस्तानी अधिकारियों ने कैमरे पर बयान दर्ज करने को कहा. इसके बाद ही उन्हें सीमा पार करके स्वदेश जाने दिया गया. इसके अलावा दस्तावेजों से संबंधित मुद्दे भी देरी की वजह बनी. सूत्रों ने बताया था कि पाकिस्तान ने उनकी रिहाई का समय दो बार टाल दिया.

स्वदेश पहुंचने के बाद विंग कमांडर अभिनंदन वर्धमान ने सबसे पहले कही यह बात


वतन वापसी पर क्या थी अभिनंदन के पहली प्रतिक्रिया



अमृतसर के उपायुक्त शिव दुलार सिंह ढिल्लों ने बताया कि बहादुर पायलट अपने देश लौटकर खुश है. यह पूछे जाने पर कि अभिनंदन ने स्वदेश लौटने पर अधिकारियों से क्या कहा, उपायुक्त ने कहा था कि वह पहले मुस्कुराए और बोले, ‘मैं अपने देश वापस लौटकर खुश हूं.’ वाघा अटारी सीमा पर कुछ औपचारिकताओं के बाद उन्हें बीएसएफ अधिकारियों को सौंप दिया गया. बाद में वायुसेना के अधिकारी अपने साथ अभिनंदन को लेकर आए. इसके बाद विंग कमांडर को अटारी सीमा से वायुसेना के वाहन में अमृतसर ले जाया गया. इस दौरान पंजाब पुलिस की गाड़ियां उनके वाहन के साथ चल रही थीं इसके बाद वर्धमान को हवाई मार्ग से दिल्ली लाया गया

इस वजह से  पायलट अभिनंदन वर्धमान को पाकिस्तान ने भारत को लौटाने में की देरी!

 The Wing Commander Abhinandanan Full Story पाक सरजमीं पर अभिनंदन के वो 60 घंटे बाद करीब रात 9:17  India  

विंग कमांडर अभिनंदन 27 फरवरी को सुबह करीब दस बजे पाकिस्तानी वायुसेना के फाइटर प्लेन का पीछा करते हुए पाकिस्तान की सीमा में जा घुसे थे. पाकिस्तान के एफ-16 को मार गिराने के बाद अभिनंदन का विमान भी क्रैश हो गया. इस वजह से उन्हें किसी तरह पैराशूट की मदद से उतरना पड़ा. जब वह नीचे आए तब उन्हें एहसास नहीं था कि वह दुश्मन देश की धरती पर जा पहुंचे है. कुछ लोग उनके पास आए, जिनसे अभिनंदन ने पूछा कि वह कहां हैं. इस पर कुछ पाकिस्तानियों ने चालबाजी दिखाते हुए उनसे कहा कि आप भारत की धऱती पर हैं. मगर अभिनंदन को कुछ शक हुआ. इसके बाद वह भारत माता की जय के नारे लगाए. इसके बाद फिर पाकिस्तानियों ने उन्हें घेर लिया. अभिनंदन किसी तरह खुद को बचाने के लिए वहां से भागे. बाद में उन्हें पाकिस्तानी सेना ने अपनी हिरासत में ले लिया. सेना ने उनसे पूछताछ की, मगर अभिनंदन ने उतना ही मुंह खोला, जितना उन्हें बताने की इजाजत होती है वायुसेना में. इसके बाद उन्हें पाकिस्तानी सेना ने चाय-कॉफी भी पिलाई. उसके बाद फिर इमरान खान की घोषणा के बाद दुनिया को पता चला कि वह महज दो दिन के बाद ही वतन वापस हो जाएंगे.

The Wing Commander Abhinandanan Full Story पीएम मोदी ने कहा- घर वापसी की बधाई



प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अभिनंदन की वापसी का स्वागत करते हुए ट्वीट में कहा था कि ‘विंग कमांडर अभिनंदन आपका घर में स्वागत है. राष्ट्र को आपके अदम्य साहस पर गर्व है. हमारे सशस्त्र बल देश के 130 करोड़ भारतीयों के लिये प्रेरणा का स्रोत हैं.’ विंग कमांडर अभिनंदन की स्वदेश वापसी पर पूरे देश की निगाहें वाघा बॉर्डर पर दिन भर लगी रही. इतना ही नहीं, विंग कमांडर अभिनंदन को राहुल गांधी, समेत कई राजनीतिक नेताओं ने बधाई दी और उनकी वतन वापसी पर ट्वीट किए.

 

Copy Protected by Chetan's WP-Copyprotect.